70 करोड़ ज्यादा ई-मेल आईडी हैक? कहीं आप भी तो नहीं हुए शिकार? ऐसे करें चेक

2019 की शुरुआत के साथ ही इस साल का सबसे बड़ा डेटा लीक सामने आया है। रिसर्चर ट्रॉय हंट ने इस डेटा लीक का पता लगाया है और अब इसे अपनी वेबसाइट ‘troyhunt.com’ पर मेंशन किया है। यह करीब 77 करोड़ 30 लाख ईमेल आईडी और 2 करोड़ से ज्यादा पासवर्ड्स का बहुत बड़ा डेटाबेस है।

गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश, अब ये 10 एजेंसियां कंप्यूटर डेटा की कर सकती हैं जांच

गृह मंत्रालय ने जारी किया आदेश, अब ये 10 एजेंसियां कंप्यूटर डेटा की कर सकती हैं जांच

नई दिल्ली: 2019 की शुरुआत के साथ ही इस साल का सबसे बड़ा डेटा लीक सामने आया है। रिसर्चर ट्रॉय हंट ने इस डेटा लीक का पता लगाया है और अब इसे अपनी वेबसाइट ‘troyhunt.com’ पर मेंशन किया है। यह करीब 77 करोड़ 30 लाख ईमेल आईडी और 2 करोड़ से ज्यादा पासवर्ड्स का बहुत बड़ा डेटाबेस है। यह अलग-अलग तरीकों से ग्लोबली हजारों-लाखों यूजर्स से चुराया गया डेटा है।’ उसने कहा कि बीते दिनों कई लोगों ने उसे इस बारे में जानकारी दी और इसके बाद रिसर्च में मदद की।

12 हजार अलग अलग फाइल्स में स्टोर किया डेटा

ऑस्ट्रेलिया के साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर ट्रॉय हंट ने दावा किया है ये ईमेल आईडी और पासवर्ड्स 12 हजार अलग अलग फाइल्स में स्टोर किए गए हैं। इन फाइल का साइज 87GB से ज्यादा है। बता दें कि ये ट्रॉय हंट वही साइबर सिक्योरिटी रिसर्चर हैं जिसने आधार की आलोचना की थी और इसमें बेसिक खामियों के बारे में बताया था।

यह भी पढ़ें…..RSS प्रमुख मोहन भागवत बोले, जब कोई युद्ध नहीं, तो फिर सैनिक क्यों हो रहे शहीद

ट्रॉय हंट के मुताबिक ईमेल आईडी और पासवर्ड्स को फाइल शेयरिंग वेबसाइट MEGA पर अपलोड किया गया था। अपने ब्लॉग पोस्ट में कहा है कि फिलहाल mega पर ये फाइल्स उपलब्ध नहीं हैं, लेकिन ये अभी भी हैकर्स के पास वेब फोरम के तौर पर उपलब्ध हैं।

यह भी पढ़ें…..क्या तूफान में फंसेंगे फरहान, इससे पहले अमिताभ बच्चन का भी हिल चुका है मकान

रिसर्चर ने सभी को चेक करने का ऑप्शन दिया है कि क्या उनकी आईडी कभी हैक हुई थी और क्या वह इस डेटाबेस में है। यह डेटाबेस ‘Have I been Pwned’वेबसाइट पर मौजूद है। आपको https://haveibeenpwned.com पर जाना होगा और अपनी आईडी विंडो में लिखकर एंटर करना होगा।

यह भी पढ़ें…..CBI से राकेश अस्‍थाना का हुआ तबादला, 3 और अफसर हटाए गए

अगर आपकी ईमेल आईडी सेफ है तो ‘Good news — no pwnage found!’ लिखकर आएगा। वहीं अगर आपकी आईडी इस डेटाबेस में हैं तो ‘Oh no — pwned!’ लिखकर आएगा। अगर आपकी आईडी सेफ न हो तो फौरन पासवर्ड्स और उससे जुड़े डीटेल्स अपडेट कर लें।