वाराणसी:  प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में ट्रैफिक व्यवस्था का हाल किसी से छिपा नहीं है। आए दिन शहर में जाम की समस्या बनी रहती है। सुबह से लेकर रात तक लोग ट्रैफिक पुलिस को कोसते रहते हैं। शहर का शायद ही कोई कोना हो जहां जाम ना लगे। ट्रैफिक व्यवस्था की बदइंतजामी के शिकार अक्सर वीआईपी होते रहते हैं। इसकी बानगी देखने को मिली शनिवार को जब एक ज्वैलरी शोरुम का उद्धाटन करने पहुंची फिल्म अभिनेत्री करिश्मा कपूर भी जाम में फंस गई। करिश्मा कपूर की गाड़ी रथयात्रा इलाके में 50 मिनट तक जाम में फंसी रही। जैसे-तैसे उनके सिक्योरिटी गार्ड करिश्मा की गाड़ी को जाम से निकालने में कामयाब हुए।

ये भी देखें: कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं को राहत, टोल प्लाजा से इंट्री हो सकती है फ्री

देरी के लिए पत्रकारों से मांगी माफी

जाम के कारण करिश्मा कपूर कार्यक्रम स्थल पर देरी से पहुंचीं। वो लगभग पचास मिनट तक करिश्मा कपूर बनारस के बेतरतीब ट्रैफिक में फंसी रही। दरअसल दीपावली में होने वाली खरीददारी के चलते सड़क किनारे दुकानदारों ने शहर में जगह-जगह अतिक्रमण कर रखा है। जिसके चलते सड़कों पर गाड़ियां रेंग रही हैं। यही नहीं सड़कों पर बने गड्ढ़े कोढ़ में खाज का काम कर रहे हैं। करिश्मा कपूर की गाड़ी सिगरा इलाके से ही जाम में फंस गई। उनकी गाड़ी को जाम से निकालने में आयोजकों के साथ उनके सिक्योरिटी गार्ड के पसीने छूट गए। कार्यक्रम स्थल पर पहुंचते ही करिश्मा कपूर ने देरी के लिए पत्रकारों से माफी मांगी। इस दौरान उन्होंने कहा कि बनारस में बहुत बेतरतीब तरीके से जाम की समस्या है।

ये भी देखें: 4 नवंबर रविवार को जरूर करें ये काम ,मिलेगा हर जन्म के पापों से मुक्ति

ये भी देखें: इस दीवाली चाइनीज लाइटों का बहिष्‍कार, टेराकोटा शिल्‍पकारों के लिए गोल्‍डन चांस

#Mee Too अभियान पर क्या बोली करिश्मा

देश में चल रहे #MeToo को लेकर फिल्म अभिनेत्री करिश्मा कपूर ने कहा कि वह ऐसी महिलाओं और लड़कियों को समर्थन करती हूं जो अपनी पीड़ा सोशल मीडिया के माध्यम से जाहिर कर रही है। उनका मानना है महिलाओं और लड़कियों के कार्यक्षेत्र में उनकी सुरक्षा और सम्मान का ध्यान सबको रखना चाहिए। फिल्मी दुनिया में दूसरी पारी को लेकर उन्होंने कहा कि जब कोई ऑफर आएगा तो पसंद आने पर विचार किया जाएगा।