नई दिल्ली: सेक्स की बात आते ही दिमाग में कई तरह के सवाल घूमने लगते है। क्या कंडोम से सेक्स करने से मजा कम हो जाता है। क्या ऐसा करने से पार्टनर का मूड ऑफ़ हो सकता है? सेक्स के दौरान कंडोम का इस्तेमाल करना कितना सही है और कितना गलत। इन सभी सवालों का जवाब लोग जानना चाहते है। तो आइये जानते है सेक्स के समय कंडोम का इस्तेमाल करना चाहिए या नहीं।

आत्मविश्वास से भरे होने पर सेक्स का मजा नहीं होगा किरकिरा
सेक्सोलॉजिस्ट व काउंसलर की माने तो यह एक मिथक है। ‘‘यदि आप अपनी सेक्शुएलिटी के लिए आत्मविश्वास से भरे हैं तो कोई भी चीज़ मूड को समाप्त नहीं कर सकती।’’ आजकल बाज़ार में अच्छी गुणवत्ता वाले कई तरह के कंडोम उपलब्ध हैं, बहुत ही मुलायम से लेकर वाइब्रेटिंग तक, जो अपनी उपस्थिति का पूरा एहसास कराते हैं। अलग-अलग आकार और नाप के कंडोम भी उपलब्ध हैं।

पहले बाधा की तरह समझे जानेवाले कंडोम्स को अब सेक्स का मजा बढ़ाने का माध्यम समझा जाने लगा है। तरह-तरह के कंडोम्स में से अपने लिए उपयुक्त कंडोम की तलाश भी ख़ुद में एक ख़ूबसूरत अनुभव हो सकता है।’’

पार्टनर के लिए करें उपयुक्त कंडोम का चयन
सही आकार का कंडोम न चुनने और उसे सही तरीक़े से न पहनने की वजह से ही अक्सर कंडोम मज़ा ख़राब करनेवाला बन जाता है। हर पुरुष को संवेदनशीलता और आकार के अनुसार अलग तरह के कंडोम की आवश्यकता होती है, जैसे-रिब्ड कंडोम कुछ दंपतियों को आनंददायक लगते हैं तो कुछ को अपनी त्वचा पर चुभते हुए। महत्वपूर्ण ये है कि आप अलग-अलग तरह के कंडोम्स का इस्तेमाल कर अपने और अपने साथी के लिए उपयुक्त कंडोम चुनें।

कंडोम से फोरप्ले का मजा होता है दोगुना
पर सच तो ये है कि कंडोम जोश और उत्तेजना को बढ़ाने का काम करते हैं। इनकी वजह से आप चिंतामुक्त रहते हैं और इसका ल्युब्रिकेंट (चिकनाई) सेक्स के अनुभव को सहज बनाता है। कंडोम पहनने में जो वक़्त लगता है, यक़ीनन वो आपके फ़ोरप्ले का समय और साथ ही आनंद को भी बढ़ाता है।’’

ये भी पढ़ें….सेक्स का मजा दोगुना करना है तो छुएं पार्टनर के बॉडी के इन पांच अंगों को

ये भी पढ़ें…सेक्स टॉयज टेस्ट करके 16 लाख कमाती है ये महिला, ब्लॉग पर देती है जानकारी

ये भी पढ़ें…मितरों ! जब होंगे ये 6 गुण, तभी बन सकोगे एक अच्छा सेक्स पार्टनर