चुनाव 2018

कुल 86 फिर से निर्वाचित विजेताओं में से कोई भी अपने-अपने निर्वाचन क्षेत्र में 20% से कम वोट शेयर के साथ नहीं जीता है। इनमें 27 विजेता (31%) 50% से अधिक के वोट शेयर के साथ जीते हैं। मध्य प्रदेश में नोटा में 5, 42,295 वोट पड़े थे।

बांग्लादेश में रविवार को होने जा रहे आम चुनावों के मद्देनजर देशभर में सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं। सेना के हजारों जवानों समेत छह लाख से ज्यादा सुरक्षाकर्मी, अर्धसैनिक बल और पुलिसकर्मी तैनात किए हैं। अफवाहों पर अंकुश लगाने के लिए रविवार दे रात तक इंटरनेट सेवाएं बंद कर दी गई हैं।

राजस्थान, छत्तीसगढ़, मिजोरम, मध्य प्रदेश और तेलंगाना समेत कुल पांच राज्यों के विधानसभा चुनाव के नतीजों पर नोटा का जबरदस्त असर देखने को मिला है। मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में शिवराज सिंह चौहान और उनके चार मंत्री को बहुत ही कम वोटों से हार का मुंह देखना पड़ा था।

राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने छत्तीसगढ़ के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को पद की शपथ दिलवाई। शपथ ग्रहण समारोह में कांग्रेस व अन्य दलों के दिग्गज नेताओं की मौजूदगी में उन्होंने मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। भूपेश बघेल के साथ टीएस सिंह देव और ताम्रध्वज साहू ने मंत्री पद की शपथ ली।

यहां आपको बता दें कि Newstrack.Com ने 11 दिसम्बर को ही बता दिया था कि छत्तीसगढ़ के अगले मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ही होंगे और आज न्यूजट्रैक की इस खबर पर मुहर लग गई।

राजस्थान में नए मुख्यमंत्री  पद की लेने जा रहे अशोक गहलोत के शपथ ग्रहण समारोह को कांग्रेस यादगार बनाने जा रही है।शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए देश भर के नामी-गिरामी सियासी चेहरों को न्योता दिया गया है। तीन राज्यों में सरकार बनाने जा रही कांग्रेस इस मौके को ठीक से भुनाने की पूरी तैयारी में है।

छत्तीसगढ़ में कांगेस पार्टी में अब तक किसी एक नाम पर सहमति नहीं बना सकी है। ऐसी संभावना जतायी जा रही है कि रविवार को 12 बजे किसी नाम की घोषणा होगी। मिजोरम के मुख्यमंत्री के रूप में जोरमथांगा ने शपथ ले ली है।

अमेरिका में पेंसिलवानिया विश्वविद्यालय के व्हॉर्टन स्कूल से MBA करने वाले सचिन पायलट  विरासत  की राजनीति को आगे बढाने में कामयाब हो गए। सचिन के पिता राजेश पायलट कांग्रेस के कद्दावर नेता थे। इंडियन एयरफोर्स में पायलट रहे राजेश पायलट ने 1971 की जंग में बतौर पायलट मोर्चा संभाला था।

भारत के चुनावी गणित में महिलाओं की स्थिति क्या है यह इस आंकड़े से साफ पता चलता है कि 2018 में देश में हुए विधानसभा चुनावों में कुल 678 विधायक चुने गए जिनमें महिलाओं की संख्या मात्र 62 रही।

मध्य प्रदेश विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बहुमत मिलने और मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद आज कमलनाथ ने कांग्रेस के अन्य नेताओं के साथ राज्यपाल आनंदी बेन पटेल से मुलाकात की। इस दौरान ये तय हुआ कि शपथ ग्रहण समारोह 17 दिसंबर को लाल परेड मैदान में होगा।