ऐसे बनें CBI आफिसर

परीक्षा का अंतिम चरण साक्षात्कार का होता है, इसमें अभ्यर्थी के साक्षात्कार के दौरान उनके व्यक्तित्व और मानसिक क्षमता का आकलन किया जाता है, इसके पश्चात सफल अभ्यर्थियों की अंतिम सूची तैयार की जाती है,सूची के अनुसार, अच्छा रैंक प्राप्त कर वाले अभ्यर्थियों का चयन किया जाता है |

लखनऊ: देश के प्रतिष्ठित सेवाओं में सीबीआई (केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो) भी शुमार है। अधिकांश युवाओं की तमन्ना होती है कि वह भी सीबीआई का हिस्सा बनें, लेकिन बिना जानकारी के वह इसमें भर्ती नहीं हो पाते हैं। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं कि सीबीआई में कैसे भर्ती हुआ जाता है…

सीबीआई क्या है ?

सीबीआई का पूरा नाम केन्द्रीय अन्वेषण ब्यूरो है ,यह भारत सरकार की एक मुख्य जांच एजेंसी है। इस एजेंसी के माध्यम से सुरक्षा से सम्बंधित समस्याओं को सुलझाने का काम करती है, भारत देश की सुरक्षा से संबंधित विभिन्न मुद्दों को हल करने के लिए इस केंद्रीय अन्वेषण/जांच ब्यूरो की मदद ली जाती है।सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इंवेस्टीगेशन से पहले इसका नाम स्पेशल पुलिस इस्टेबलिशमेंट अर्थात एसपीई था, जिसकी स्थापना 1941 में भारत सरकार ने की थी।

ये भी पढ़ें— जेईई मेन अप्रैल परीक्षा के लिए आवेदन शुरू, पढ़ें डिटेल

‘केन्‍द्रीय अन्‍वेषण ब्‍यूरो’ का नाम,गृह मंत्रालय द्वारा 1963 द्वारा प्रदान किया गया था। फिर इसके जाँच क्षेत्र में सार्वजनिक क्षेत्र के सभी विभागों को शामिल कर दिया गया। वर्ष 1969 में इसके जाँच क्षेत्र में वृद्धि करते हुए सभी राष्ट्रीय बैंक इसके अंतर्गत कर दिये गये।

सीबीआई का कार्यक्षेत्र

सीबीआई का कार्य क्षेत्र सम्पूर्ण देश हैं, और आवश्यकता पड़नें पर अन्य देशों की सुरक्षा एजेन्सियों से सहयोग प्राप्त कर सकते हैं, इसमें केन्द्र सरकार, राज्य सरकार के सभी सार्वजनिक विभागों को सम्मलित किया गया हैं,सीबीआई को आदेश देनें का अधिकार सुप्रीम कोर्ट, हाईकोर्ट और केंद्र सरकार के पास होता है।

सुप्रीम कोर्ट और हाईकोर्ट राज्य सरकार के आदेश के बिना देश के अन्दर किसी भी अपराधिक मामले की जाँच का आदेश सीबीआई को दे सकती हैं, परन्तु केंद्र सरकार, राज्य सरकार की सहमति के बिना जाँच का आदेश नहीं दे सकती। राज्य सरकार, राज्य में घटित अपराधों की जाँच के लिए केंद्र सरकार को प्रस्ताव भेजती हैं, प्रस्ताव प्राप्त होने के उपरांत केंद्र सरकार सीबीआई को जाँच करनें का आदेश प्रदान करती हैं, परन्तु केंद्र सरकार स्वतंत्र रूप से केंद्र शासित प्रदेशो में सीबीआई को जाँच का आदेश दे सकती है।

सीबीआई में नियुक्ति प्रक्रिया

सीबीआई में नियुक्तियां दो प्रकार से होती हैं–

(1) पुलिस के अन्य विभागों में कार्यरत अधिकारियों द्वारा

(2) सीबीआई में सीधी भर्ती के अंतर्गत, सब-इंस्पेक्टर पद पर नियुक्ति की जाती है, जिसका चयन स्टाफ सेलेक्शन कमीशन (एसएससी) के द्वारा आयोजित संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा के माध्यम से किया जाता है।

ये भी पढ़ें— केंद्रीय विद्यालय में एडमिशन के लिए 1 मार्च से करें आवेदन

सीबीआई के लिए शैक्षणिक योग्यता

सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए उम्मीदवार 55% अंकों के साथ ग्रैजुएट होना चाहिए साथ ही अभ्यर्थी को सीजीएल एसएससी परीक्षा पास करना आवश्यक है, उसके पश्चात अभ्यर्थी सीबीआई ऑफिसर बनने के लिए आवेदन कर सकता है।

सीबीआई ऑफिसर हेतु आयु सीमा

सीबीआई ऑफिसर परीक्षा में आवेदन करने हेतु अभ्यर्थी की आयु 20 वर्ष से 27 वर्ष तक होनी चाहिए तथा एससी/एस टी कैटेगरी के लिए विशेष छूट दी गई है।

परीक्षा पाठ्यक्रम
सीबीआई की परीक्षा, लिखित एवं इंटरव्यू इन दो भागो में विभाजित की गई है । लिखित परीक्षा का पूर्णांक 400 अंको का होता है, इस परीक्षा में उत्तीर्ण होने के पश्चात आपको साक्षात्कार हेतु बुलाया जाता है, साक्षात्कार कुल 100 अंकों का होता है। साक्षात्कार में उत्तीर्ण होने के पश्चात सीबीआई में भर्ती होने का ज्वाइनिंग लेटर दे दिया जाता है।

चयन प्रक्रिया: अभ्यर्थी का चयन लिखित परीक्षा और साक्षात्कार के आधार पर किया जाता है-

टियर I (कंप्यूटर आधारित ऑब्जेक्टिव परीक्षा )
टियर II (कंप्यूटर आधारित ऑब्जेक्टिव परीक्षा )
टियर III (लिखित परीक्षा वर्णनात्मक)

ये भी पढ़ें— आरक्षण की मांग पर गुर्जर आंदोलनकारियों का रेल पटरियों पर कब्जा, कई ट्रेनें रद्द

साक्षात्कार
परीक्षा का अंतिम चरण साक्षात्कार का होता है, इसमें अभ्यर्थी के साक्षात्कार के दौरान उनके व्यक्तित्व और मानसिक क्षमता का आकलन किया जाता है, इसके पश्चात सफल अभ्यर्थियों की अंतिम सूची तैयार की जाती है,सूची के अनुसार, अच्छा रैंक प्राप्त कर वाले अभ्यर्थियों का चयन किया जाता है |

सीबीआई में सब इंस्पेक्टर के लिए फिजिकल स्टैंडर्ड

पुरुष अभ्यर्थी के लिए मापदंड
लम्बाई- 176 सेमी०
सीना- 76 सेमी० विस्तार के साथ
वजन- मेडिकल मानक के अनुसार

महिला अभ्यर्थी के लिए मापदंड
लम्बाई- 150 सेमी०
वजन- मेडिकल मानक के अनुसार

ये भी पढ़ें— प्रवीण तोगड़िया ने अपनी नई पार्टी हिंदुस्थान निर्माण दल लॉन्च किया

अभ्यर्थी में आवश्यक गुण
1.तीव्र, विश्लेषणात्मक मन
2.शारीरिक फिटनेस
3.सहनशीलता
4.मानसिक सतर्कता
5.एकाग्रता का उच्च स्तर
6.अवलोकन की उत्सुक शक्तियां
7.तर्कसंगत, रेशनल और विश्लेषणात्मक सोच
8.यात्रा करने की शक्ति
9.लंबे, अनियमित काम के घंटे के अनुकूल कार्य करने की योग्यता
10.दूरस्थ और खतरनाक क्षेत्रों में काम करने की शक्ति