जेईई मेन अप्रैल परीक्षा के लिए आवेदन शुरू, पढ़ें डिटेल

बता दें कि एनटीए साल में दो बार जेईई परीक्षा का आयोजन करता है। जेईई के पहले एग्जाम का सैशन जनवरी 2019 में आयोजित किया गया था। 2019 से एनटीए इस एग्जाम का आयोजन कर रही है। इससे पहले सीबीएसई इस एग्जाम का आयोजन करती थी।

नई दिल्ली: आईआईटी, एनआईटी समेत देशभर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में दाखिले के लिए आयोजित होने वाली जेईई मेन 2 एग्जाम के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन शुरू हो गए हैं|

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) द्वारा आयोजित किये जाने वाले इस एग्जाम के लिए ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तारीख 7 मार्च, 2019 है। इच्छुक अभ्यर्थी जेईई मेन की आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते हैं।

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) इस वर्ष से साल में दो बार जेईई मेन का आयोजन कर रही है। पहले सेशन का जेईई मेन 06 जनवरी से 12 जनवरी के बीच आयोजित किया गया था। इस परीक्षा का रिजल्ट 19 जनवरी को घोषित किया गया था। अब दूसरे सेशन के जेईई के लिए रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ है। जिन छात्रों ने जेईई मेन 1 दिया है, वे भी चाहें तो स्कोर में सुधार के लिए जेईई मेन 2 एग्जाम दे सकते हैं। दोनों परीक्षाओं में जो बेस्ट स्कोर होगा, वही स्कोर मान्य होगा। इसलिए दोवारा परीक्षा देने वाले को घबराने की जरूरत नहीं है। इस परीक्षा के जरिये देशभर के इंजीनियरिंग कॉलेजों में बीई, बीटेक, बैचलर ऑफ आर्किटेक्चर एंड प्लानिंग जैसे कोर्स में दाखिला मिलेगा।

ये भी पढ़ें— केंद्रीय विद्यालय में एडमिशन के लिए 1 मार्च से करें आवेदन

आईआईटी में दाखिले के लिए जेईई एडवांस्ड देना होगा

आईआईटी संस्थानों में दाखिले के लिए छात्रों को जेईई मेन क्वालिफाई करने के बाद जेईई एडवांस्ड एग्जाम देना होता है। इस साल जेईई एडवांस्ड परीक्षा आयोजित कराने की जिम्मेदारी आईआईटी रुड़की को सौंपी गई है। हालांकि, जेईई मेन एग्जाम पास करने वाले कितने छात्र जेईई एडवांस्ड में बैठेंगे, यह अभी तय नहीं है। जेईई मेन 2 का रिजल्ट आने के बाद कटऑफ तय किया जाएगा, जिसके बाद पता चलेगा कि कितने छात्र जेईई एडवांस्ड में शामिल होने की पात्रता रखते हैं। जेईई एडवांस्ड का आयोजन दो पालियों में 19 मई, 2019 को किया जाएगा। आईआईटी रुड़की इसका नोटिफिकेशन बाद में जारी करेगी।

ये भी पढ़ें— प्रवीण तोगड़िया ने अपनी नई पार्टी हिंदुस्थान निर्माण दल लॉन्च किया

बता दें कि एनटीए साल में दो बार जेईई परीक्षा का आयोजन करता है। जेईई के पहले एग्जाम का सैशन जनवरी 2019 में आयोजित किया गया था। 2019 से एनटीए इस एग्जाम का आयोजन कर रही है। इससे पहले सीबीएसई इस एग्जाम का आयोजन करती थी।

अनिवार्य शैक्षणिक योग्यता

जेईई मेन और जेईई एडवांस्ड में शामिल होने के लिए 12वीं कक्षा में अभ्यर्थी को कम से कम 75 फीसदी अंक या फिर संबंधित शिक्षा बोर्ड के टॉप 20 परसेंटाइल में शामिल होना चाहिए। वहीं एससी और एसटी वर्ग के विद्यार्थियों के लिए यह 65 फीसदी है। जेईई मेन परीक्षा दो शिफ्ट में ली जाएगी। पहली शिफ्ट सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक है दूसरी शिफ्ट दोपहर 2.30 बजे से शाम 5.30 बजे चलेगी।

एग्जाम का मोड इस तरह से होगा:

पेपर-1 (बीई/बीटेक) में केवल ‘कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी)’ मोड

पेपर-2 (बीआर्च/बी प्लानिंग): मैथमेटिक्स-पार्ट 1 और एप्टीट्यूट टेस्ट-पार्ट 2 में केवल ‘कम्प्यूटर बेस्ड टेस्ट (सीबीटी)’ मोड और ड्रॉइंग टेस्ट-पार्ट 3 में ‘पेन और पेपर बेस्ड’ (ऑफलाइन) मोड

इच्छुक अभ्यर्थी परीक्षा में शामिल होने के लिए जेईई मेन की आधिकारिक वेबसाइट jeemain.nic.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं|

ये भी पढ़ें— आरक्षण की मांग पर गुर्जर आंदोलनकारियों का रेल पटरियों पर कब्जा, कई ट्रेनें रद्द

महत्वपूर्ण तारीखें
आवेदन 08 फरवरी से शुरू
आवेदन की अंतिम तिथि- 07 मार्च
एडमिट कार्ड – 18 मार्च से
परीक्षा तिथि – 06 से 20 अप्रैल ऑनलाइन मोड
परीक्षा का रिजल्ट— 30 अप्रैल को घोषित होगा।