वियना: पेट्रोलियम उत्पादक देशों के संगठन (ओपेक) ने अगले साल तेल की वैश्विक मांग के अनुमान को घटा दिया। धीमी विकास दर और अमेरिकी शेल गैस का उत्पादन बढ़ने की वजह से यह फैसला लिया गया।

यह भी पढ़ें: त्रिची एयरपोर्ट: एयर इंडिया की फ्लाइट दीवार से टकराई, बाल-बाल बचे 136 यात्री

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, ओपेक की मासिक रिपोर्ट में कहा गया है कि 2019 में तेल की वैश्विक मांग घटकर 13.6 लाख बैरल रह जाएगी जबकि इस साल यह 15.4 लाख बैरल है। अमेरिका द्वारा ईरान पर प्रतिबंध लगाने की वजह से बीते महीनों में तेल की कीमतों में इजाफा हुआ है।

–आईएएनएस