investor meet में नोएडा प्राधिकरण करेगा 10 हजार करोड़ के MOU साइन

0
58
investor meet में नोएडा प्राधिकरण करेगा 10 हजार करोड़ के MOU साइन
investor meet में नोएडा प्राधिकरण करेगा 10 हजार करोड़ के MOU साइन

नोएडा: लखनऊ में इवेस्टर मीट का आयोजन किया जा रहा है। राज्य स्तर पर लक्ष्य करीब 2 लाख करोड़ रुपए के एमओयू साइन करने का है। नोएडा प्राधिकरण की हिस्सेदारी 10000 हजार करोड़ के एमओयू साइन करने की है। प्राधिकरण मुख्य कार्यपालक अधिकारी के अनुसार लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए देश के विभिन्न राज्यों में रोड शो किया जा रहा है। मीट के जरिए राज्य में हजारों लोगों को रोजगार मिलेंगा साथ ही राजस्व में तेजी से बढ़ोतरी होगी।

21-22 फरवरी को लखनऊ में इवेस्टर मीट का आयोजन किया जा रहा है। मीट का उद्देश्य प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देना है। निवेश सिविल एविएशन, आई सेक्टर, इलेक्ट्रानिक मैन्यूफ्कचरिंग, इंफ्रास्ट्रक्चर के अलावा पर्यटन से बढ़ेगा। महत्वपूर्ण निवेश है। इससे जहां लोगों को रोजगार मिलेगा वहीं, प्रदेश की छवि बदलेगी। लिहाजा मीट के दौरान प्रदेश स्तर पर 2 लाख करोड़ रुपए के एमओयू साइन करने का लक्ष्य रखा गया है। जिसमे 10 हजार करोड़ रुपए के एमओयू नोएडा प्राधिकरण द्वारा साइन किए जाएंगे।

औद्योगिक भूखंड योजना इसका एक उदाहरण है। इसके अलावा दो जनवरी को प्राधिकरण ने ओपेन इंड स्कीम भी निकाली है। जिसमे 5 एकड़ से बड़े भूखंडों को शामिल किया गया है। एक महीने में जितने भी कंपनियां आवेदन करेंगी, 15 फरवरी तक उन सभी को भूखंड अलाट कर दिए जाएंगे। इन सभी उद्यमियों व कंपनी मालिकों को मीट में एमओयू साइन के लिए बुलाया जाएगा। वहीं, शुक्रवार को हुए ड्रा में 10 हजार वर्गमीटर के भूखंडों के अलाटी को अलाटी को मीट में बुलाया गया है। कहा जाए तो दो महीने में छोटे बड़े कुल 375 भूखंडों का अलाटमेंट उद्यमियों को किया जाएगा।

कोलकता में मिले इवेस्टर
हाल ही में कोलकाता में एक इवेस्टर मीट का आयोजन किया गया था। जिसमें प्राधिकरण मुख्य कार्यपालक अधिकारी ने हिस्सा लिया था। उन्होंने उम्मीद जताई कि कोलकाता में कई बड़े उद्यमियों ने प्रदेश में आने को तैयार है। वह भी लखनऊ में मीट के दौरान एमओयू साइन करेंगे। इसके साथ ही अगला चरण अहमदाबाद होगा। वहां भी उद्यमियों से बातचीत की जाएगी। उन्हें प्रदेश की छवि के बारे में बताया जाएगा। ताकि वह भी अपाना रूख यहां करें।

विदेशी इंवेस्टरों को लेकर सगज राज्य सरकार
प्रदेश में निवेश को बढ़ावा देने के लिए सिर्फ देश के उद्यमी ही नहीं बल्कि एनआरआई व विदेशी उद्यमियों को भी यहां लाने का प्रयास किया जा रहा है। ताकि वह भी यहां उद्योग स्थापित करें। इससे प्रदेश की अपनी छाप विदेशों में भी बना सकेगा। फिलहाल ऐसे इंवेस्टरों को भी सूचि बद्ध किया जा रहा है। इनसे बातचीत भी की जाएगी।

loading...