राष्ट्रपति चुनाव: रणनीति के तहत विपक्ष ने नहीं खोले पत्ते, बढ़ गई मोदी की दुविधा

एक वरिष्ठ नेता का कहना था कि अगर हम बैठक में संभावित नामों पर अनौपचारिक चर्चा भी करते तो इससे सत्ता पक्ष या प्रधानमंत्री मोदी को यही बहाना मिलता कि विपक्ष ने आम सहमति से साझा उम्मीदवार की बाबत सरकार की कोशिशों का इंतजार तक नहीं किया।

लंच प्लेट पर पॉलिटिकल तड़का: नीतीश का साफ संकेत, नहीं बनेंगे विपक्ष की राजनीति का हिस्सा

बिहार के सीएम नीतीश कुमार ने मॉरिशस के पीएम प्रविंद कुमार जगन्नाथ के सम्मान में पीएम नरेंद्र मोदी के दिए लंच में शामिल होकर साफ संकेत दे दिया कि अब वो विपक्ष की राजनीति का हिस्सा नहीं रहेंगे।

मोदी सरकार के 3 साल: विपक्ष की बैठक में होगा पोस्टमॉर्टम, मंदी और बेरोजगारी बनेंगे औजार

विपक्ष की बैठक में राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए साझा उम्मीदवार खड़ा करने पर निर्णायक चर्चा होनी है।लेकिन बंगाल जैसे राज्यों में विपक्षी एकता खतरे में हैं। कांग्रेस व वाम पार्टियां ममता सरकार के खिलाफ सड़कों पर हैं। उत्तर प्रदेश में भी सपा व बसपा के तार जोड़े रख पाना टेढ़ा काम है।

राष्ट्रपति चुनाव: सरकार की पहल के इंतजार में विपक्ष, संघ को भी मोदी के प्रस्ताव की प्रतीक्षा

विपक्ष का मानना है कि यह मोदी सरकार पर निर्भर करता है कि इस सर्वोच्च पद के लिए चुनाव में सीधा टकराव होगा या नहीं। विपक्ष का मानना है कि अगर सरकार खांटी आरएसएस के व्यक्ति को इस पद के लिए लाती है तो विपक्ष कोई समझौता नहीं करेगा।

अनिल माधव दवे : बौद्धिक तेज से दमकता था उनका व्यक्तित्व

संजय द्विवेदी केंद्रीय पर्यावरण मंत्री अनिल माधव दवे, देश के उन चुनिंदा राजनेताओं में थे, जिनमें एक बौद्धिक गुरुत्वाकर्षण मौजूद था। उन्हें देखने, सुनने और सुनते रहने का मन होता था। पानी, पर्यावरण, नदी और राष्ट्र के भविष्य से जुड़े सवालों पर उनमें गहरी अंतर्दृष्टि मौजूद थी। उनके साथ नदी महोत्सवों, विश्व हिंदी सम्मेलन-भोपाल, अंतरराष्ट्रीय […]

पर्यावरण संत अनिल माधव दवे कर रहे थे एक बड़ी योजना पर काम, ये थी उनकी अंतिम इच्छा

शांत चित्त चेहरा, हमेशा बनी रहने वाली मुस्कान और गंभीरता से सभी की बात को सुनने की कला। ये वो बातें हैं जो मेरे जेहन में स्व.अनिल माधव दवे की स्मृतियों को हमेशा जिंदा रखेंगी। मितभाषी होने के साथ साथ वो समय के संपूर्ण उपयोग पर विशेष ध्यान देते

छापों के बाद गठबंधन में आई द'रार', लेकिन सवाल अब भी Alliance partners कौन?

छापों के बाद RJD-JDU गठबंधन में आई द’रार’, लेकिन सवाल अब भी Alliance partners कौन?

पटना: ‘अगर आरोपों में दम है तो केंद्र कार्रवाई करे।’ बिहार के सीएम नीतीश कुमार का ये बयान इशारा भर था और इसके बाद आयकर विभाग ने राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के सदस्यों से जुड़े 22 ठिकानों पर मंगलवार (16 मई) को छापेमारी कर दी। बिहार बीजेपी […]

कांग्रेस में जान फूंकने के लिए राहुल ने झोंकी ताकत, अंदरूनी रस्साकशी को थामना चुनौती

कांग्रेस में जान फूंकने के लिए राहुल ने झोंकी ताकत, अंदरूनी रस्साकशी को थामना चुनौती

पार्टी सांगठनिक चुनावों ने देश के प्रायः हरेक प्रदेश में गुटबाजी को खुलेआम बढ़ाया है। ऐसी सूरत में पार्टी को इस तरह के मामलों में पुराने पैटर्न पर ही धीरे-धीरे लाना होगा तथा संवाद व विचार विमर्श के जरिए उनके मतभेदों को दूर करना होगा।

राष्ट्रपति चुनाव: ममता-सोनिया मुलाकात तय करेगी कितने पानी में है विपक्ष, नीतीश के संकेत अहम

राष्ट्रपति चुनाव: ममता-सोनिया मुलाकात तय करेगी कितने पानी में है विपक्ष, नीतीश के संकेत अहम

बंगाल में भाजपा के बढ़ते प्रभाव से ममता बहुत ही बेचैन हैं। बंगाल एक ऐसा अकेला राज्य है कि जहां प्रणब मुखर्जी को दोबारा राष्ट्रपति बनाने की सूरत में एक-दूसरे के खिलाफ खड़े ममता व माकपा के नेतृत्व वाले वाम दल मुखर्जी के नाम पर मुहर लगा देंगे।