बजट 2019

मंगलवार सुबह 11:00 बजे से शुरू होगा उत्तर प्रदेश विधानमंडल का बजट सत्र। दोनों सदनों की संयुक्त बैठक में राज्यपाल राम नाईक के अभिभाषण से शुरू होगा बजट सत्र। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले उत्तर प्रदेश विधानमंडल के इस बजट सत्र में हंगामे के आसार। सुबह 11:00 बजे यूपी के राज्यपाल राम नाईक उत्तर प्रदेश विधानमंडल के दोनों सदनों की संयुक्त बैठक को करेंगे संबोधित।

केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा है कि एनडीए सरकार ने मजदूर-कामगारों के भविष्य को सुरक्षित करने के लिए प्रधानमंत्री श्रम योगी मान-धन नामक वृहत पेंशन योजना शुरू करने जा रही है।

वित्त मंत्री ने कहा कि अभी तो हम सबने मिलकर सिर्फ बुनियाद ही रखी है। हम देश की जनता के साथ मिलकर इसे भव्य इमारत बनाएंगे।

कन्फेडरेशन ऑफ रियल एस्टेट डेवलपर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (क्रेडाई) के नेशनल प्रेसिडेंट जक्षय शाह ने कहा है कि यह बजट रियल एस्टेट सेक्टर के सपनों को साकार करने वाला बजट है। बजट भाषण के आरम्भ में ही वित्त मंत्री ने घोषणा की कि होम बायर्स के ऊपर GST के बोझ को कम करने के लिए एक ग्रुप ऑफ़ मिनिस्टर्स का गठन कर दिया गया है और जिसकी रिकमेन्डेशनस पर शीघ्र कार्यवाही होगी। 

2019 के आम चुनाव से पहले केंद्र की नरेन्द्र मोदी सरकार ने अंतरिम बजट पेश किया। इस बजट में किसानों और मध्यम वर्ग को ध्यान में रखते हुए कई बड़े ऐलान किए गए। ऐसे में इस बजट को लेकर राजनीतिक और आर्थिक दुनिया के कई दिग्गज अपना-अपना रिएक्शन पेश कर रहे हैं।

नरेंद्र मोदी सरकार ने लोकसभा चुनाव से पहले अंतरिम बजट 2019 पेश किया किया। अंतरिम बजट पेश होने बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस बजट की तारीफ करते हुए कहा कि ये बजट न्यू इंडिया के लक्ष्यों की प्राप्ति में देश के 130 करोड़ लोगों को नई ऊर्जा देगा, ये बजट सर्वव्यापी, सर्वस्पर्शी और सर्व-समावेशी है।प्रधानमंत्री ने कहा,  ये बजट गरीब को शक्ति देगा, किसान को मजबूती देगा, श्रमिकों को सम्मान देगा, मध्यम वर्ग के सपनों को साकार करेगा, ईमानदार आयकरदाताओं का गौरवगान करेगा, इंफ्रास्ट्रक्टर निर्माण को गति देगा और अर्थव्यवस्था को बल देगा।

मोदी सरकार ने 2019 के बजट में रक्षा क्षेत्र के लिए खजाना खोल दिया है। देश के इतिहास में पहली बार रक्षा क्षेत्र के लिए बजट का आवंटन तीन लाख करोड़ रुपये से ज्यादा होगा।

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री व सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने केंद्र सरकार के बजट को दिखावटी व झूठा करार दिया है। अखिलेश ने ट्वीट किया कि एक साल के बजट में 10 साल आगे की बात करना झूठी है। इस बजट में बहुसंख्यक भूमिहीन किसानों व श्रमिकों के लिए इसमें कुछ भी राहत नहीं है।

बजट को लेकर यहां के व्यापारी वर्ग और अर्थशास्त्री बेहद खुश दिखे। प्रसिद्ध इंडस्टलिस्ट आरे चौधरी कहते हैं कि ‘’ बहुत शानदार बजट है। इस बजट में हर वर्ग का ख्याल रखा गया है। किसान, जवान, युवा, मजदूर हर किसी के लिए सरकार ने अपना पिटारा खोला है।

वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने बजट भाषण में ऐलान किया कि दो हेक्टेयर तक की जमीन वाले किसानों को 6000 रुपए सालाना की मदद मिलेगी। ये राशि साल में तीन बार 2000 की किस्तों में दी जाएगी। यह पैसा सीधे किसानों के खाते में जाएगा।