फिलहाल अब देखना होग कि पोस्टर सामने आने के बाद किस तरह से जिला प्रशासन इस मामले पर कार्यवाई करता है। सिटी मजिस्ट्रेट अतुल कुमार का कहना है कि पोस्टर चिपकाने के मामले मे जांच की जा रही है। पोस्टर मे लगाए गए आरोपों की भी जांच कराई जाएगी।

अब देखना यह है कि गरीब के पेट मे लगाई गई इस आग के पीछे जो अपराधी है उसे सजा मिलती है या नही ,इस तरह 10 बीघा गन्ना जल कर नष्ट होने से किसान रोते बिलखते नजर आए।

वहीं आधा दर्जन लोग जख्मी थे। शवों को कब्जे में लेकर पुलिस ने गंभीर रूप से जख्मी तीन लोगों को शहर के स्वरूपरानी नेहरू अस्पताल भेजा। जबकि तीन को सोरांव के अस्पताल में भर्ती कराया। वहीं वाहन समेत ट्रेलर चालक फरार हो गया है।

विश्वविद्यालय परिसर में तनाव का माहौल है। इविवि मेंआज शिक्षण कार्य स्थगित कर दिया गया है। पूर्व सीएम का कार्यक्रम रद्द करने के विरोध में सपा कार्यकर्ता ने जुलूस निकालकर चका जाम किया। मौके पर भारी फार्स तैनात है।

बता दें की ये कोई पहला मामला नहीं है, जब इस तरह की वीडियो सामने आई हो लेकिन उसके बाद भी लोग जागरूक नहीं हो पा रहे है अब सबसे बड़ा सवाल ये की जब शिक्षा के मंदिर में इस तरह से जुआ खेला जायेगा तो देश के भविष्य पर इसका क्या असर पड़ेगा।

इस प्रदर्शन में गठबंधन धर्म का पालन करते हुए शामिल होने वाले बहुजन समाज पार्टी के कार्यकर्ताओं की अगुवाई करने वाले बसपा नेता पंकज गुप्ता ने बताया कि हमारा गठबंधन समाजवादी पार्टी के साथ है अगर अखिलेश जी को कोई दिक्कत आएगी तो हम सरकार को दिक्कत पैदा कर देंगे। सरकार की यह तानशाही है इसलिए सरकार को इससे बाज़ आना चाहिए।

हालांकि की इस मामले में बीएसए कौस्तुभ सिंह का कहना है कि मामला संगीन है। और फिर रटे रटाए अंदाज में उन्होंने कहा कि जांच कराकर उचित कार्यवाही की जायेगी।

जानकारी के अनुसार, इस दौरान 2 से 3 आतंकी सुरक्षाबलों के घेरे में फंसे हुए थे। जिसमें एक आतंकी को सेना ने ढेर कर दिए है। वहीं इस मुठभेड़ में सेना के कमांडो सहित दो जवान शहीद हो गए है। इलाके में मोबाइल और इंटरनेट सर्विस को बंद कर दिया गया है।